- Hindi Movie

अग्निपथ को लेकर हिंसक प्रदर्शन, पटना के 4 कोचिंग सेंटर्स पर साजिश के आरोप


Patna Coaching Centres Accused of Agnipath Violence: देशभर में अग्निपथ योजना (Agnipath Scheme) को लेकर बवाल जारी है. शनिवार को बिहार के कई हिस्सों में विरोध प्रदर्शन, आगजनी और हिंसा की घटनाएं सामने आई थी. इस मामले में पटना के 4 कोचिंग सेंटर्स (Patna Coaching Centres) पर साजिश करने के आरोप लगे हैं. पुलिस को कुछ सबूत हाथ लगे हैं जिसमें ये संकेत है कि राज्य में कोचिंग सेंटर्स की आगजनी और हिंसा को बढ़ावा देने में भूमिका हो सकती है. पटना ज़िला प्रशासन की ओर से अब तक 4 कोचिंग संस्थानों पर एफ़आईआर (FIR) दर्ज की गई है.

अग्निपथ योजना को लेकर विरोध प्रदर्शन के बीच WhatsApp चैट से पुलिस को कई आधार मिले हैं जो गवाही दे रहे हैं कि छात्रों को उकसाया गया और अराजकता की स्थिति बनायी गयी. इनमें दो कोचिंग संस्थान मसौढ़ी के हैं जहां कल हिंसा और पथराव की तस्वीरें आई थीं.

पटना में 4 कोचिंग सेंटर्स पर FIR दर्ज

पटना के जिलाधिकारी चंद्रशेखर सिंह ने कहा कि गिरफ्तार किए गए लोगों के फोन में व्हाट्सएप संदेश उत्तेजक प्रकृति के पाए गए थे. उन्होंने कहा, हम पूरी तरह अलर्ट हैं. वीडियो फुटेज के जरिए लोगों की पहचान की जा रही है. हमने गिरफ्तार किए गए लोगों के व्हाट्सएप संदेशों के जरिए 7-8 कोचिंग सेंटरों की भूमिका के बारे में पता लगाया है. पुख्ता सबूत मिलने के बाद पटना के कई कोचिंग सेंटर्स पर सख्त कार्रवाई की जा सकती है.

सीकर हिंसा में कोचिंग सेंटर्स कनेक्शन

उधर राजस्थान के सीकर में अग्निपथ योजना के विरोध में हिंसक उपद्रव मामले में भी कोचिंग कनेक्शन सामने आया है. पुलिस ने कोचिंग संचालक सहयोग भवरिया सहित 17 लोगों को शांति भंग करने के आरोप में गिरफ्तार कर एसडीएम के सामने पेश किया. जहां से सभी को एसडीएम ने जेल भेज दिया है. बता दें कि शनिवार को जिले के श्रीमाधोपुर कस्बे में उपद्रवियों ने करीब 1 घण्टे तक जमकर हिंसक उपद्रव का तांडव मचाया था.  हाइवे, मुख्य बाजार के साथ रेलवे स्टेशन पर जमकर तोड़फोड़ की गई थी. वीडियो के आधार पर दूसरे उपद्रवियों की तलाश में पुलिस जुटी है.

ग्वालियर में हिंसा को लेकर कार्रवाई

मध्य प्रदेश के ग्वालियर में भी पुलिस ने कई कोचिंग संस्थानों की भूमिका को संदिग्ध बताया है. फिजिकल ट्रेनिंग देने वाले कोचिंग संचालकों की भूमिका की भी जांच की जा रही है. ग्वालियर में गुरूवार को अग्निपथ योजना के खिलाफ हुई हिंसा और तोड़फोड़ की घटना के बाद अब शांति है लेकिन अभी भी दहशत का माहौल है. रेलवे स्टेशन से लेकर सभी मुख्य मार्गों पर अभी भी कड़ा पहरा है. इस बीच दंगाइयों के खिलाफ कार्रवाई भी शुरू हो गई है. पुलिस ने इस मामले में 50 लोगों को हिरासत में लिया है.

अलीगढ़ में 3 दर्जन से अधिक लोग हिरासत में

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में कल बदमाशों ने छात्रों के बीच घुसकर मारपीट की थी. अलीगढ़ के डीआईजी दीपक कुमार ने बताया कि हमने 3 दर्जन से अधिक लोगों को हिरासत में लिया है. सोशल मीडिया पर नजर रखी जा रही है. कोचिंग सेंटर्स के कुछ लोग भी छात्रों को भड़काने में शामिल थे. 4 प्राथमिकी दर्ज की गई है. इसके अलावा सहारनपुर
 में खुफिया सूचनाओं के आधार पर सहारनपुर रेलवे स्टेशन में तोड़फोड़ करने की योजना बना रहे 5 लोगों को स्वाट और पीएस कुतुबशेर पुलिस के संयुक्त अभियान से गिरफ्तार किया गया है. कल रामपुर मनिहारान थाना क्षेत्र में भी युवाओं को उकसाने के आरोप में पांच लोगों को पकड़ा गया था.

सिकंदराबाद-हैदराबाद में बवाल पर कार्रवाई

हैदराबाद में ट्रेन में आगजनी की गई. ‘अग्निपथ’ योजना (Agnipath Yojana) का विरोध शुक्रवार को दक्षिण राज्य में फैल गया था. अज्ञात बदमाशों ने यहां सिकंदराबाद (Sikandrabad) रेलवे स्टेशन पर यात्री ट्रेन के पार्सल कोच में आग लगा दी थी. सुब्बाराव को आंध्र प्रदेश की पालनाडु पुलिस ने हिरासत में लिया है. अवुला सुब्बाराव सिकंदराबाद रेलवे स्टेशन हिंसा का मास्टरमाइंड बताया जा रहा है. इसी हकीमपेट आर्मी सोल्जर्स व्हाट्सग्रुप बनाया था जिस पर छात्रों को प्रदर्शन के लिए बुलाया गया था. सुब्बाराव साईं डिफेंस एकेडमी नाम से सेना कोचिंग सेंटर चलाता है. प्रदर्शन के लिए सभी छात्रों को उकसाया गया था जिससे काफी हिंसा और आगजनी हुई.

ये भी पढ़ें:

Railway Update: अग्निपथ स्कीम के विरोध प्रदर्शन के कारण आज करीब 700 ट्रेनें रद्द! चेक करें कैंसिल ट्रेनों की लिस्ट

Bihar: RSS के मुखपत्र में नीतीश कुमार सरकार को बताया गया था नाकाम, अब अग्निपथ को लेकर आमने-सामने BJP-JDU

About cinipediasite

Read All Posts By cinipediasite

Leave a Reply

Your email address will not be published.